गांव के हर मकान का होगा यूनिक आईडी नंबर

गांव के हर मकान का होगा यूनिक आईडी नंबर

स्वामित्व योजना के तहत गांवों के निवासियों को दिए जाने वाले ग्रामीण आवासी अभिलेख में हर मकान का यूनिक आईडी नंबर दर्ज होगा यह आईडी नंबर 13 अंकों का होगा इसमें पहले 6 अंक गांव के कोड 10 आएंगे 5 अंक आबादी के प्लॉट नंबर को 10 आएंगे आखिरी के 2 अंक के संभावित विभाजन को 10 आएंगे ग्रामीण आबादी के संरक्षण कार्य और गांव वासियों को ध्वनि उपलब्ध कराने की प्रतिज्ञा को जामा पहनाने के लिए राजस्व विभाग ने उत्तर प्रदेश आबादी सर्वे अभिलेख सक्रिय नियमावली 2020 का ड्राफ्ट तैयार कर लिया है जल्द ही कैबिनेट से मंजूरी मिलने की तैयारी है आबादी सर्वेक्षण के लिए सबसे पहले गांव में मार्किंग करके संपत्तियों संपत्तियों को अलग अलग किया जाएगा ताकि से फोटो खींचने पर सफाई ड्रोन फोटोग्राफी के आधार पर आबादी क्षेत्र का मानचित्र किया जाएगा और मकानों औरमकानों और अलग दर्शाए गए स्थानों की नंबरिंग की जाएगी नंबरिंग के आधार पर प्रत्येक ग्रह स्वामी का नाम लिखा जाएगा यदि घर में कई भाई रहते हैं तो सभी का नाम और उसके हिस्से भी लिखे जाएंगे